लॉजिस्टिक्स बिज़नेस कैसे करें | Logistics Business Ideas in Hindi

How to start a logistics business । लॉजिस्टिक्स बिज़नेस कैसे शुरु करें । How to start a transportation business । ट्रांसपोर्टेशन बिजनेस कैसे शुरु करें

आज हम सभी में से शायद ही किसी-किसी ने logistics business के बारे में सुन रखा होगा लेकिन यह हमारी दैनिक जीवन में काफी घुलनसील हैं और हम इसका उपयोग भी बहुत समय से करते आ रहे हैं उधारण के तौर पर आप Flipkart या amazon से मंगाई गई वस्तुओं को ही देख सकते हैं कि उसकी डिलीवरी भी Ekart, Blue Dart तथा Delhivery जैसी logistics transportation वाली कम्पनियाँ ही करती हैं तो अब आप यह समझ ही सकते हैं कि logistics business कितना अधिक लाभदायक हों सकता हैं।

आजकल के दौर में logistics business अत्यंत ही लाभदायक business ideas में से एक हैं। वैश्विक तौर पर ही नहीं बल्कि ये भारत में भी यह दिन पर दिन और भी लाभदायक होती जा रही हैं यही वजह हैं कि वर्ल्ड बैंक द्वारा जारी की गई Logistics performance index में भारत की रैंकिंग में लगातार सुधार आ रहे हैं और भारत की रैंकिंग 2014 में 54वें स्थान से सुधरकर 2018 में यह रैंक 44वें स्थान पर आ गई।

‘इंडियन Logistics सेक्टर’ की value लगभग 150 अरब डॉलर के करीब हैं और यह भारत की GDP में लगभग 14.5% का योगदान करती है। FDI में थोड़ी ढील के साथ साथ, GST के लागू होने और ई-कॉमर्स में वृद्धि के कारण इस क्षेत्र में असीमित वृद्धि देखी जा रही है।

यहीं नहीं बल्कि इस Logistics business को सरकार द्वारा चलाई जा रही “Bharatmala” “Sagarmala” तथा “Make in India” जैसी योजनाओं का भी लाभ प्राप्त हों रहा हैं और 2022 तक इस क्षेत्र के 200 अरब डॉलर के पार जानें की उम्मीद जताई जा रही हैं।

तो चलिए जानते हैं कि क्या हैं Logistics business? कैसे कार्य करता है ये logistics business?

Logistics Business क्या है? (What is Logistics Business in Hindi?)

Logistics business तथा transportation दोनों ही एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। आजकल ई कामर्स में लगातार बढ़ोतरी के वजह से Logistics business में भी वृद्धि आ रही हैं।

ग्राहक कई कारणों से ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं ये निम्न भी हों सकते हैं जैसे कई ई–कॉमर्स कंपनिया बेहतरीन डिस्काउंट, कम मूल्य में समान वस्तु, इत्यादि। तो अब सवाल हैं कि ग्राहकों तक यह सामग्री कैसे पहुँचेगी तो इसी के लिए कंपनी third party डिलीवरी फ्रेंचाइज का चयन करती है जो उसके उत्पादक को ग्राहकों तक पहुँचने का कार्य करती हैं।

ये third party एक ऐसे संगठन होती हैं जो ई–कॉमर्स कम्पनियो की delivery पहुँचने की सेवा (service) प्रदान करती हैं। इन Logistics कंपनियों की पहुँच ग्राहक तथा विक्रेताओं दोनों तक होती हैं और ये सम्बंधित ई–कॉमर्स प्लेटफॉर्म से मदद लिए बगैर ही उसे सटीक स्थान पर सही ग्राहक तक पहुँचा देती हैं।

अतः ये logistics कंपनी pick up से लेकर सटीक delivery तक सभी कार्य सावधानी पूर्वक करती हैं।

Logistics-Business-hindi

Logistics Business कैसे कार्य करता हैं? (How logistics business works?)

एक logistics business में logistics कंपनी अपने ई कॉमर्स से जुड़े प्लेटफॉर्म सभी कार्य सावधानी पूर्वक करती हैं अर्थात् वह pick up से लेकर ग्राहकों तक सुरक्षित delivery तक सभी के लिए उत्तरदायी होती हैं। ये pick up से लेकर drop तक की delivery प्रक्रिया दो प्रकार की होती है –

1. सीधी प्रक्रिया(Straight process) – इसके अन्तर्गत ऑर्डर को सीधी तरीके से ग्राहकों तक पहुंचाया जाता है।

2. रिवर्स प्रक्रिया(Reverse & Return process) – इसके अन्तर्गत ग्राहकों द्वारा वस्तु के Damage, wrong item और price decrease के कारण वापस लिया जाता हैं।

लॉजिस्टिक्स व्यवसाय के लाभ (Benefits of logistics business)

वक्त के साथ साथ ई–कॉमर्स  पर निर्भरता भी बढ़ती जा रही हैं बदलते समय के साथ साथ हर कोई ऑनलाइन वस्तुएं पर ही भरोसा कर रहें जिसके कारण इसकी मांग बढ़ती जा रही हैं और मांग बढ़ने के कारण logistics business में भी लगातार वृद्धि होते जा रही हैं। इस logistics business में वृद्धि के कारण इसके अनेक फ़ायदे देखने को मिलते हैं, जो निम्न इस प्रकार हैं –

1. कम लागत (Cost Reduction)

E–commerce और Logistics transportation के कारण  वस्तु की लागत में कमी को देखा जा सकता हैं और कम लागत में ग्राहकों को अच्छी वस्तुएं प्राप्त हो जाती हैं। क्योंकि इस logistics business द्वारा वस्तुएं सीधे manufacturer से customer तक पहुंचाया जाता हैं और यह logistics business बीच के सभी माध्यमों को हटा वस्तु की लागत में कमी करने में मदद करता हैं।

2. रोजगार वृद्धि (Increase in employment)

बेरोजगारी आजकल एक बड़ी समस्या हैं ऐसे में logistics transportation रोज़गार की नई नई अवसरों का सृजन कर रहीं हैं। Logistics business उन लोगों की तरफ रोज़गार का कदम बढ़ा रही हैं जो इस logistics business से ताल्लुक रखते हैं, जैसे– Delivery Boys, Drivers, packaging worker, Office employee, इत्यादि।

3. डिजिटालीकारण में वृद्धि (Increase in Digitaltion)

Logistics business डिजिटलीकरण में अहम भूमिका निभाना का कार्य करती हैं। पहले जो ई–कॉमर्स इंडस्ट्री जो खाता–बड़ी पर निर्भर रहतीं थीं वो भी अब डिजिटल हों गई हैं इसकी प्रमुख कारण logistics business को ही जाता हैं। डिजिटल होने के कारण customer का विश्वास भी उस ई–कॉमर्स इंडस्ट्री के प्रति बढ़ती हैं।

बेस्ट बिजनेस आइडिया | Small Business Ideas in Hindi

भारत में लॉजिस्टिक्स व्यवसाय कैसे शुरू करें? (How to start a logistics business in India?)

किसी भी logistics business के शुरू करने के लिए आपको सर्वप्रथम यह तय करना होगा की आप किस-किस प्रकार की business मॉडल के साथ काम करना चाहते या आप खुद का फर्म स्थापित करना चाहते हैं अथवा आप किसी logistics फ्रेंचाइजी का फ्रेंचाइज प्राप्त करना चाहते हैं।

इन दोनों ही बिजनेस मॉड्यूल के अपने फायदे और नुकसान हैं। पहला आपको नई विचार और सोच के साथ काम करने की छूट देता हैं जबकि दूसरा तुलनात्मक रूप से कम निवेश में व्यापार करने की छूट देता हैं। साथ ही साथ आपको यह भी तय करना होगा की आप किस प्रकार की सेवा प्रदान करना चाहते है।

आप केवल pick और drop की सेवा प्रदान करना चाहते हैं या packing aur barcode printing की सेवा भी प्रदान करना चाहते हैं। यदि आपके पास गोदाम (warehouse) भी मौजूद हैं तो आप उसे भी अपने logistics business में जोड़ छोटे स्तर पर end to end efficiency के साथ कार्य कर सकते हैं।

आपको अपनी logistics business शुरू करने के लिए कई आवश्यक चरणों को पूरी करनी होगी जो कुछ इस प्रकार निम्न हैं–

1. पंजीकरण (Registration)

Logistics business आरंभ करने के लिए आपको निम्न चरणों में गुजरना पड़ता हैं जिसमें से यह पंजीकरण प्रथम चरण से ताल्लुक रखती हैं–

कंपनी रजिस्ट्रेशन: सर्वप्रथम आपको अपनी कंपनी का पंजीकरण भारतीय सरकार द्वारा पंजीकृत कराना होगा। यदि आपने अपनी logistics कंपनी का पंजीकरण नहीं करवाया हैं तो आपको logistics कंपनी के तौर पर कार्य करने का logistics licence नहीं मिलेगी और आप logistics business आरंभ करने में सक्षम नहीं होंगे। पंजीकरण के पश्चात् आपको 7 दिनों के भीतर 3 दस्तावेजो की प्राप्ति होगी

  • Udyog Aadhaar
  • Shop Act licence
  • Gstn Number

यह वे आवश्यक दस्तावेज हैं जिसकी आवश्यकता एक logistics business आरंभ करने में जरूरी हैं।

लोकल कंपनी रजिस्ट्रेशन: लाइसेंस प्राप्ति के तुरन्त बाद आपको अपने लोकल में एक अच्छी-सी कंपनी (जैसे Ekart, Blue Dart) के संग अपना पंजीकरण करा लेना हैं। इसके लिए आपको 8000 से 10000 तक की राशी जमा करवानी होगी। ताकि कंपनी अपनी ज्यादातर संभावित लीड आपको ही दे।

2. परिवहन सेवाएं (Transportation Services)

आपको अपने शहर या कस्बों के मशहूर एवं अच्छी परिवहन सुविधाएँ प्रदान करने वाली ट्रांपोर्टर से मिलकर उसके संग Deal करनी होगी। जब आपको ऑर्डर प्राप्त होगा तो आप और आपका ट्रांसपोर्ट पार्टनर परिवहन के लिए जिम्मेदार होगा। यदि आपके पास खुद का ट्रक हैं तो आप Fleet owner के तौर पर भी कार्य कर सकते है।

दूसरे शब्दों में आप यह कह सकते हैं कि आप परिवहन (transportation) के लिए पूर्ण रूप से जिम्मेदार होंगे अर्थात् आप परिवहन के प्रबंधन से लेकर उसके door to door delivery तक पूर्ण से जिम्मेदार होंगे। ऐसे आप इन कंपनियों के साथ काम कर के डील का लगभग 25% कमा सकते हैं।

लॉजिस्टिक्स कंपनी का प्रचार (Logistics Company’s Advertisement)

Logistics business का पंजीकरण और परिवहन कंपनिया से deal करने के पश्चात् आपको अपनी कंपनी का विज्ञापन करना होगा ताकि आपकी कंपनी स्थानीय ट्रांसपोर्टर के मध्य आपकी एक साख (goodwill) बन सकें और वे आपके संग मिलकर काम करने के लिए उत्सुक हो जाए।

यह विज्ञापन आपके कंपनी का विवरण देगी कि आपकी कंपनी किस-किस प्रकार की सेवाएँ (Service) प्रदान कराती है तथा ये यह भी बताएंगी की आप एक बेड़े के मालिक हैं या एक कमीशन लेने वाले दलाल (Broker) या फ़िर आप दोनों हैं और क्या आप केवल उत्तर भारत में या केवल दक्षिण भारत में ई–कॉमर्स सम्बंधी वस्तुएँ की को वितरित करने के लिए ऑर्डर लेते हैं। ये सभी आपके विज्ञापन लोगों तक पहुँचाने का कार्य करेंगी।

सहयोग और संयोजन (Interaction and Connection)

एक बड़ी logistics कंपनी स्थापित के लिए यह जरूरी हैं कि आपसे कई ट्रांसपोर्ट मालिकों से अच्छी खासी जान पहचान होनी चहिए।

यदि आप इस logistics business में नए है तो आपको 2 से 3 महीने के लिए ट्रक ड्राईवर और परिवहन मालिकों से बातचीत कर अपनी logistics कंपनी में सम्मलित होने के लिए तैयार करना होगा ताकि आपको अपने नए logistics business के लिए एक अनुभवी (Experience) टीम मिल सकें।

Myntra Delivery Franchise कैसे खोले?

लॉजिस्टिक्स व्यवसाय के लिए पात्रता (Eligibility for Logistics Business)

जैसे की आपको यह पता हैं की कोई भी कार्य आपके योग्यता के अनुसार ही मिलता हैं अर्थात् आप उस कार्य के लिए योग्य होने चहिए। ठीक इसी प्रकार logistics business में भी आपके योग्यता के अनुसार ही कार्य मिलता हैं।

Logistics business में भी आपको course के अनुसार ही कार्य मिलते हैं। इसी संदर्भ में Logistics business से संबंधित कुछ Course जो आपकी योग्यता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकती हैं –

NoLogistics CoursesYearsFees
1BBA in Logistics Management3 YearsINR 1,22,000 Approxx.
2MBA in Shipping and Logistics2 YearsINR 2,10,000 Approxx.
3MSc in Maritime Administration and Logistics2 YearsINR 1,40,000 Aproxx.
4MSc in International Trade2 YearsINR 1,50,000 Approxx.
5MSc in Port Management2 YearsINR 1,30,000 Approxx.
6BBA in Logistics and Supply Chain Management3 YearsINR 1,03,000 Approxx.
7PG Diploma in Supply Chain and Logistics Management2 YearsINR 1,90,000 Approxx
8MBA in Logistics and Supply Chain2 YearsINR 2,00,000 Aproxx.
9MBA in Shipping Management2 YearsINR 1,90,000 Approxx.
10MBA in International Transportation and Logistics Management2 YearsINR 1,84,000 Approxx.

तो अब आप समझ ही सकते हैं कि एक logistics कंपनी तैयार करने के लिए उतनी मशक्कत का सामना नहीं करना पड़ता। इसके लिए आपको कम से कम 10 से 12 लाख रूपये का निवेश करना होगा तभी आप एक छोटे-सी logistics कंपनी आरंभ कर पाएंगे।

ये logistics business एक ऐसा व्यवसाय हैं जो आपको आने वाले दिनों में अधिक से अधिक लाभ अर्जित करने का अवसर प्रदान करेंगी।

Leave a Comment